in ,

CNG Full Form in Hindi | CNG क्या है और इसके क्या फायदे है !

CNG Full Form in Hindi - सीएनजी गैस के फायदे क्या है

CNG Full Form: आज के समय में बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए कई ऐसे देश है जहाँ पर CNG गैस का उपयोग किया जाता है चाहे वह परिवहन में हो या फिर रसोई में | वहाँ की सरकार इसको बढ़ावा देने के लिए लोगों को जागरूक कर रही है | क्या आपको पता हैं की CNG (सी.एन.जी.) का फुल फॉर्म क्या है? (What is the Full Form of CNG in Hindi) आपने पहले CNG का नाम जरूर सुना होगा या पढ़ा होगा और आप यह भी जानते होंगे CNG एक प्रकार का प्राकृतिक गैस होता है |

सीएनजी गैस पेट्रोल, डीजल और बाकि जगहों में उपयोग होने वाले गैस की तुलना में हमारे पर्यावरण को कम नुकसान पहुँचता है। अगर आपको सीएनजी के बारे में नहीं पता है तो इस पोस्ट में आपको CNG गैस से जुड़ी सारी जानकारी जैसे – CNG Full Form in Hindi, CNG ka pura naam, full form of CNG, Advantage of CNG gas, CNG ka full form के बारे में details से जानने वाले है इसलिए इस पोस्ट को ध्यान से अंत तक पढ़े।

CNG Full Form in Hindi – सीएनजी का फुल फॉर्म क्या है?

CNG का Full Form “Compressed Natural Gas” होता है और इसे हिंदी में “संपीडित प्राकृतिक गैस ” कहते है। सीएनजी गैस का इस्तेमाल पैट्रॉल, डीजल, LPG के बदले में किया जाता है क्योंकि यह गैस पेट्रोल और डीजल (petrol and diesel) की तुलना में कम प्रदूषणकारी होते है जो पर्यावरण को बहुत कम नुकसान पहुँचाते है |

CNG का मुख्य घटक मीथेन (CH4) होता है, इसे सीएनजी कंप्रेसर का उपयोग करके उच्च दबाव में संपीड़ित किया जाता है। यह हवा से मामूली सी हल्की होती है। प्राकृतिक गैस की तरह सी.एन.जी. भी रंगहीन, गंधहीन और विषहीन होती है। इसे गोलाकार या बेलनाकार कंटेनरों में 20-25 एमपीए के दबाव में सुरक्षित रखा जाता है, जिसके बाद इसका वितरण शुरू होता है। इसका आविष्कार सबसे पहले संयुक्त राज्य अमेरिका United States of America में हुआ था।

सीएनजी क्या है – What is CNG in Hindi

CNG गैस एक तरह का ईंधन ही है जिसका उपयोग ज्यादातर वाहनों में ईंधन के रूप में किया जाता है और जो वाहन CNG Gas पर चलते हैं उन्हें NGV (Natural Gas Vehicle) कहा जाता है। यह गैस पेट्रोल, डीजल आदि गैसों की तुलना में कम हानिकारक होते है और अन्य गैसों की तुलना में ज्यादा सुरक्षित भी होते है |

अगर गलती से कभी CNG गैस लिक भी हो जाता है तो यह गैस बहुत तेजी से हवा में घुल जाती है क्योंकि CNG गैस हवा से भी हल्का होता है जिस कारण से इस गैस से नुकसान या खतरा नहीं होता है इसी कारण से सीएनजी गैस को अन्य गैसों की तुलना में सुरक्षित माना जाता है एवं यह पेट्रोल, डीजल की तुलना में CO2, CO, NOx के रूप में कम प्रदूषण फैलाता है।

CNG गैस यानि संपीड़ित प्राकृतिक गैस compressed natural gas गंधहीन और विष odorless and toxin मुक्त होती है। इस गैस को जलाने के लिये 540 डिग्री सेल्सियस से अधिक ताप की जरुरत होती है | सीएनजी CNG ईंधन का मुख्य घटक मीथेन गैस (methane gas) है जो सामान्य स्तर पर 75-98% की मात्रा में रहता है। सीएनजी गैस के इस्तेमाल करने से बहुत कम नुकसान होता है, जिससे पर्यावरण को कोई भी हानि नहीं होती है | अंतर्राष्ट्रीय आंकड़ों की मानें तो, प्राकृतिक गैस का भंडार 155 ट्रिलियन क्यूबिक मीटर है जो हर साल 2 ट्रिलियन क्यूबिक मीटर प्राकृतिक गैस की खपत होती है।

CNG गैस कैसे बनता है?

सीएनजी गैस में मीथेन की मात्रा 90% से अधिक होती है, इसलिए CNG को मीथेन गैस भी कहा जाता है। जब प्राकृतिक गैस (मीथेन) को उच्च दाब पर रखा जाता है और मीथेन गैस को संपीडित यानि compressed किया जाता है तो CNG गैस का निर्माण होता है। इस गैस को गाड़ियों में इस्तेमाल करने के लिए 200-250 किलोग्राम प्रति वर्ग सेंटीमीटर (200-250 psi) तक दबाया जाता है, ताकि ये किसी बेलनाकार टैंक में कम जगह में भरा जा सकें |

अगर CNG गैस का उपयोग करके किसी गाड़ी को चलाना है तो इसे इंजन में एक निश्चित दाब पर प्रवेश करानी होगी तभी गाड़ी चलेगी, इसलिए इस गैस को उपयोग करने से पहले compress किया जाता है। यह गैस कम तापमान और उच्च दबाव पर तरल बन सकती है। इस गैस का उपयोग वाहनों में सबसे पहले अमेरिका ने किया था उसके बाद इटली और फिर यूरोपीय देशो ने CNG गैस का उपयोग करना शुरू किया।

सीएनजी (CNG) गैस के गुण 

  • यह उच्च ज्वलनशील होता है क्युकी इसमें अधिक मात्रा में मीथेन गैस होता है।
  • प्राकृतिक गैस की तरह सी.एन.जी. भी रंगहीन, गंधहीन और विषहीन होती है।
  • इसे जब किसी सिलेंडर में स्टोर करते है तो उसमे जंग नहीं लगता है।
  • यह गैस हवा से मामूली सी हल्की होती है।
  • पर्यावरण के लिहाज से यह गैस बेहतर मानी जाती है।
  • पैट्रोल और डीजल गाड़ियों की तुलना में सी.एन.जी. का खर्च कम होता है।

इन्हें भी पढ़े –

One Time Password (OTP) क्या है? OTP Full Form in Hindi

CNG के क्या क्या फायदे हैं – (Benefits of CNG)

  1. सीएनजी CNG 540 डिग्री सेल्सियस या उससे अधिक का उच्च ऑटो इग्निशन तापमान (high auto ignition temperature) प्रदान करता है।
  2. CNG इंजन अधिक टिकाऊ होता है और अन्य प्रकार के ईंधन का उपयोग करने वाले इंजनों की तुलना में इसका जीवनकाल लंबा होता है।
  3. क्योंकि प्राकृतिक गैस हवा से हल्की होती है, दुर्घटना या समस्या की स्थिति में, अन्य प्रकार के ईंधन (एलपीजी, गैसोलीन, आदि) के विपरीत, यह तुरंत हवा में वाष्पित हो जाती है और इस कारण से यह अन्य प्रकारों के विपरीत प्रज्वलन या विस्फोट का कारण नहीं बनती है।
  4. CNG 540 सेल्सियस का उच तापमान पर जलता है जिससे आग लगने का खतरा कम रहता है|
  5. सीएनजी का इस्तेमाल करने पर 35-40 हजार किलोमीटर की दर से यह बदलता है, जिससे इंजन को कोई नुकसान नहीं होता है।
  6. जब अन्य प्रकार के ईंधन पर चलने वाले इंजनों से शोर पैदा करने का प्रतिशत की तुलना की जाए तो इसमें 30% प्रतिशत कम होता है।
  7. पेट्रोल और डीजल से चलने वाले वाहनों की तुलना में सीएनजी से चलने वाले वाहनों की रखरखाव लागत बहुत कम होती है।

CNG और LPG में क्या अंतर है?

  • CNG का उपयोग मुख्य रूप से वाहनों के लिए ईंधन के रूप में किया जाता है। जबकि LPG रसोई गैस के साथ-साथ वाहन ईंधन के रूप में किया जाता है।
  • सीएनजी गैस को LPG के मुकाबले ज्यादा सुरक्षित मना जाता है |
  • CNG वजन मे हल्की होती है जबकीं LPG थोड़ा भारी होता है |
  • सीएनजी का pressure ज्यादा होता है जबकि एलपीजी का pressure कम होता है।
  • CNG प्राकृतिक गैस को संपीड़ित करके बनाई जाती है, जबकि LPG कई गैसों को मिलाकर बनी होती है।
  • पेट्रोल, डीजल की तुलना CNG गैस बहुत सस्ती होती है।
  • सीएनजी सिर्फ आपको किसी CNG station पर ही मिलेगी जबकी एलपीजी आपको कहीं भी आसानी से मिल जाती है|

इन्हें भी पढ़े –

NOC Full Form in Hindi – NOC का फुल फॉर्म क्या होता है?

CNG Gas का अविष्कार कहाँ हुआ है?

CNG Gas का आविष्कार या खोज लगभग सन् 1800 दशक में, सबसे पहले अमेरिका में हुआ था। इसके बाद इसका इस्तेमाल भारत तथा अन्य देशों में शुरू किए जाने लगा | उस समय इस प्राकृतिक गैस पर काफी रिसर्च किया गया एवं यह पता लगाया गया की यह गैस अन्य ईंधनों की अपेक्षा में कम प्रदूषण उत्पन्न करती है | इसे 20-25 एमपीए के दबाव में बहुत कठोर गोलाकार या बेलनाकार cylindrical containers कंटेनरों में संग्रहित और वितरित stored and distributed किया जाता है।

आज आपने क्या जाना – (CNG Gas Full Form)

दोस्तों, आज आपने इस पोस्ट के माध्यम से यह जाना कि CNG का फुल फॉर्म क्या है (What is the Full Form of CNG in Hindi) इसके अलावा मैने यह भी बताया की सी.एन.जी. क्या है (What is CNG in Hindi) सीएनजी और एलपीजी में क्या अंतर है एवं इसके इस्तेमाल से कौन कौन से फायदे हैं।

मुझे उम्मीद है कि आपको इस Post से सीएनजी के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी | अगर आपको यह जानकारी पसंद आई है तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों और रिश्तेदारों में शेयर जरूर करें एवं साथ ही अगर आपको इस आर्टिकल से सम्बंधित कोई सवाल है तो आप नीचे कमेंट में लिखकर हमें ज़रूर बताएं, धन्यवाद!

Written by Ravi Ranjan

Hello friends, मेरा नाम Ravi Ranjan हैं और मैं Blogging करने के साथ-साथ Youtuber भी हूँ | इस Blog में मैं Tech news, Blogging, SEO, Internet, Earn money, Job और Facebook जैसे अनेक Topic पर पोस्ट लिखता हूँ | blogger पर मेरा मेन मकसद है कि मैं आपको अच्छे से अच्छे जानकारी दूँ ताकि आप Technology के क्षेत्र में पीछे ना रहें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GIPHY App Key not set. Please check settings