in ,

ICSE Full Form in Hindi – आईसीएसई बोर्ड की सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में!

ICSE full form in hindi ICSE Kya Hai

ICSE Full Form: देश के सभी माता-पिता अपने बच्चों की शिक्षा को लेकर चिंतित रहते है वह हमेशा चाहते हैं कि उनके बच्चे का प्रवेश किसी ऐसे स्कूल में कराये जहां पर उनको एक अच्छी शिक्षा मिल सके | जब उनके सामने अपने बच्चे की एडमिशन करवाने की बात सामने आती है तो माता-पिता सोच में पड़ जाते हैं कि वह अपने बच्चे का एडमिशन CBSE Board में कराये या फिर ICSE Board में कौन सा Board उनके बच्चों के लिए बेहतर होगा | सब कुछ इस पोस्ट में जानेंगे कि ICSE kya hai, ICSE ka full form क्या है एवं इसके अलावा आईसीएसई बोर्ड कौन सा होता है |

हमारे देश की बात करें तो यहाँ national level पर दो महत्वपूर्ण boards है पहला CBSE Board और दूसरा ICSE Board ये दोनों बोर्ड अलग अलग है और इनकी शिक्षा प्रणाली भी अलग-अलग है हमारे देश में ICSE Board के मुकाबले CBSE Board का स्कूल ज्यादा है लेकिन आज हम आपको इस post में ICSE Board के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं कि आईसीएसई बोर्ड क्या है, ICSE full form in hindi एवं ICSE Meaning in hindi से जुड़ी सभी जानकारियाँ आपको इस पोस्ट के माध्यम से जान सकेंगे |

ICSE Full Form in Hindi

ICSE का फुल फॉर्म “Indian Certificate of Secondary Education” होता हैं और इसका हिंदी में उच्चारण यानि आईसीएसई का फुल फॉर्म “भारतीय माध्यमिक शिक्षा प्रमाण पत्र ” होता है और आईसीएसई बोर्ड का Headquarter नयी दिल्ली में स्थित है |

ICSE Kya Hai (आईसीएसई बोर्ड क्या होता है)

ICSE Board Kya Hai :- आईसीएसई (Indian Certificate of Secondary Education) एक प्राइवेट शैक्षिक बोर्ड है | यह एक ऐसा Board है जिसमें आयोजित की जाने वाली परीक्षा जो Council For The Indian School Certificate Examinations (CISCE) के द्वारा कराई जाती है |

भारत में काउन्सिल ऑफ इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्ज़ामिनेशंस (CISCE) बोर्ड को एक Private, Non-Government Education बोर्ड माना जाता है और यह Board 10वीं और 12वीं ( ISC- Indian School Certificate) की परीक्षा लेती है | 1986 में इस बोर्ड को नई शिक्षा प्रणाली के अनुसार इस भारत में अंग्रेजी माध्यम में परीक्षा आयोजित कराने का विशेषाधिकार दिया गया |

इस बोर्ड के द्वारा आयोजित की जाने वाली सभी परीक्षाएं केवल अंग्रेजी (English) में कराई जाती है एवं इस बोर्ड की शिक्षण प्रणाली CBSE Board और किसी दूसरे Board से बिल्कुल अलग है | यह Board तीन परीक्षाएं करवाती है :-

  • ICSE (Indian Certificate Of Secondary Education) 10th class के लिए
  • CVE (Certificate Of Vocational Education) 12th class कक्षा के लिए
  • ISE (Indian School Certificate) 12th class कक्षा के लिए

ICSE Board की स्थापना कब हुई?

सबसे पहले हमलोग जानते हैं कि, ICSE Board की स्थापना कब हुई थी और वह कब से काम कर रहा हैं? आईसीएसई बोर्ड की स्थपना 1958 में Cambridge University द्वारा भारत में एक परीक्षा आयोजित करने और उसका प्रसारण करने के लिए हुई थी। ICSE बोर्ड मुख्य रूप से आंग्ल-भारतीय एजुकेशन के उद्देस्य से संगठित किया गया था।

1967 में यह Society Registration Act के अंतर्गत दर्ज किया गया और इस ICSE Board को शिक्षा नीति 1986 की सिफ़ारिशों के अनुसार बनायी गयी है, जो भी विद्यालय इस बोर्ड के अंतर्गत आते है वो इस बोर्ड के द्वारा बनाये गए पाठ्यक्रमों का पालन करते है। भारत में इसका मुख्यालय New Delhi में स्थित हैं।

आईसीएसई बोर्ड की प्रमुख विशेषताएं

यहाँ पर ICSE बोर्ड एवं उसकी परीक्षा के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बिंदु दिए गए हैं :

  • ICSE बोर्ड सभी पाठ्यक्रम विषयों में छात्र के समग्र विकास पर ध्यान केंद्रित है |
  • यह बोर्ड अपने सभी छात्रों के लिए different विषयों का चयन करने के लिए अधिक option प्रदान करती है |
  • ICSE का सिलेबस विभिन्न अवधारणाओं का विस्तृत और व्यावहारिक ज्ञान प्रदान करता है |
  • ICSE बोर्ड छात्रों के व्यावहारिक ज्ञान यानि यह बोर्ड छात्रों के लिए All Round Development के आधार पर ज्ञान में वृद्धि पर केंद्रित है |
  • इस बोर्ड  में केवल English Medium का ही इस्तेमाल किया जाता है | इसलिए जो छात्र इंग्लिश मीडियम से पढ़ाई करना चाहते हैं, उनके लिए यह बोर्ड बेहद अच्छा माना जाता है |
  • ICSE बोर्ड की परीक्षा के परिणाम अंक / प्रतिशत के रूप में जारी होते हैं, छात्रों को उनके प्रदर्शन के बारे में स्पष्ट विचार मिलता है |

Subjects in ICSE Board

ICSE Board के द्वारा प्रस्तुत विषयों की तीन समूहों में विभाजित किया गया है |

For Classes Ix, X

Group 1-  Compulsory Subjects (अनिवार्य विषय)

1) English – अंग्रजी

2) Second Language- दूसरी भाषा

3) History/Civics & Geography – इतिहास/ नागरिकशास्र और भूगोल

4) Science Application – विज्ञान अनुप्रयोग

Group 2  Any 2/3 Subjects (कोई भी 2/3 विषय)

1) Mathematics- गणित

2) Science (Physics, Chemistry, Biology) – विज्ञान

3) Commercial Studies – वाणिज्यिक अध्ययन

4) Economics – अर्थशास्त्र

5) Environmental Science – पर्यावरण विज्ञान

6) A Modern Foreign Language – विदेशी भाषा

7) A Classical Language – क्लासिकल भाषा

Group 3  Any 1 Subjects (कोई एक विषय)

1) Computer Applications- कम्प्यूटर

2) Technical Drawing- टेक्नीकल ड्रॉइंग

3) Drama- ड्रामा

4) Art – कला

5) Dance – नृत्य

6) Yoga – योगा

7) Hindustan Music – भारतीय संगीत

8) Carnatic Music

9) Instrumental Music – वाद्य संगीत

10) Physical Education – शारीरिक शिक्षा

11) Economic Applications – अर्थशास्त्र अनुप्रयोग

12) Commercial Applications – वाणिज्यिक अनुप्रयोग

13) Mass Media And Communication – मास मीडिया और संचार

14) Modern Foreign Language – मॉडर्न विदेशी भाषा

15) Environmental Applications – पर्यावरण अनुप्रयोग

16) Cookery – कुकरी

17) Performing Arts – कला प्रदर्शन

For Classes Xi, Xii

अभ्यर्थियों को इनमें से 6 विषयों का चुनाव करना होता है |

1) Compulsory English

2) English Literature

3) Indian Language

4) Modern Foreign Language

5) Classical Language

6) History

7) Political Science

8) Geography

9) Psychology

10) Sociology

11) Economics

12) Commerce

13) Accounting

14) Business Studies

15) Mathematics

16) Physics

17) Chemistry

18) Biology

19) Biotechnology

20) Physical Education

21) Home Sciences Or Home Economics

22) Fashion Design

23) Electronics

24) Engineering Physics

25) Computer Science

26) Geometrical And Mechanical Drawing

27) Geometrical And Building Drawing

28) Art

29) Hindustani Classical Music

30) Carnatic Music

31) Environmental Science

32) Socially Useful Productive Work

ICSE Board और CBSE Board में अंतर

  • आईसीएसई के अलावा भारत में सीबीएसई बोर्ड है जो सबसे ज़्यादा उपयोग में हैं और दोनों का पाठ्क्रम भी अलग अलग है। ICSE Board दूसरे बोर्ड से कितना अलग है आईये जानते हैं:
  • सीबीएसई बोर्ड को flexible बोर्ड भी कहा जाता है क्योंकि इसमें आपको पढ़ने के लिए हिन्दी और अंग्रेज़ी दोनों माध्यम का विकल्प मिलता हैं जबकि आईसीएसई बोर्ड में केवल अंग्रेज़ी माध्यम का।
  • दूसरे बोर्ड में गणित और विज्ञान जैसे विषयों पर ज़्यादा ध्यान केन्द्रित करते हैं जबकि आईसीएसई में भाषाओ, कला और दूसरे विषयों पर भी समान ध्यान दिया जाता हैं।
  • दूसरे बोर्ड में Theory को अधिक महत्व दिया जाता हैं और आईसीएसई में Practical और परियोजना कार्यो पर।
  • इसका मतलब यह है की ICSE board में Syllabus अधिक Comprehensive होता है और इस board में छात्रों के Practical Knowledge और Analytical Skills को बढ़ाने पर ज्यादा ध्यान दिया जाता है |
  • यह बोर्ड दूसरे बोर्ड से थोड़ा मुश्किल भी हैं। आईसीएसई बोर्ड की परीक्षा हर साल फरवरी और मार्च महीने के दौरान होती हैं और मई-जून तक उसके परिणाम आते हैं। सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएँ आमतौर पर मार्च महीने में आयोजित की जाती हैं।

Conclusion

इस बोर्ड में अगर आप अपने बच्चे को पढ़ाते है तो यह बोर्ड ऐसा शिक्षण माहौल प्रदान करता हैं जो एक विद्यार्थी का पूर्ण रूप से विकास करने में मदद करेगा। यहाँ से शिक्षा लेने के बाद एक विद्यार्थी अपने क्षेत्र में अवश्य आगे बढ़ते हैं। हालांकि यह बोर्ड थोड़ा महँगा ज़रूर हैं। इस लेख को पढ़कर आपके मन में जो भी इस बोर्ड के बारे में Confusion था वह ज़रूर दूर हुआ होगा।

क्योंकि आपने यहाँ जाना कि ICSE Kya Hai, ICSE Full Form in Hindi आईसीएसई का मतलब हिंदी में (ICSE Meaning In Hindi), Full Form Of ICSE, History of ICSE In Hindi और आईसीएसई के बारे में जानकारी।

आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी हमें comment box में जरूर बताएं एवं इस लेख के बारे में अपने दृष्टिकोण रखे ताकि हम इससे भी अच्छे लेख आपके लिए ला सके।

आगे भी ऐसी ही महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए बने रहे Techify ideas पर, धन्यवाद!

Written by Ravi Ranjan

Hello friends, मेरा नाम Ravi Ranjan हैं और मैं Blogging करने के साथ-साथ Youtuber भी हूँ | इस Blog में मैं Tech news, Blogging, SEO, Internet, Earn money, Job और Facebook जैसे अनेक Topic पर पोस्ट लिखता हूँ | blogger पर मेरा मेन मकसद है कि मैं आपको अच्छे से अच्छे जानकारी दूँ ताकि आप Technology के क्षेत्र में पीछे ना रहें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GIPHY App Key not set. Please check settings